UTET Paper 2 Answer Key 29 September 2023

भाषा – I हिंदी (Language I – Hindi)

Q31. ‘गोधूम’ शब्द का तद्भव है-
(A) गेहूँ
(B) गोधन
(C) धूआँ
(D) गोरस

Q32. ‘अधित्यका’ का अर्थ है-
(A) पर्वत के पास की भूमि
(B) पर्वत शिखर पर स्थित भूमि
(C) पर्वत के ठीक नीचे की भूमि
(D) सूर्य जिस पर्वत के पीछे से निकलता है

Q33. ‘प्रागैतिहासिक’ शब्द में प्रयुक्त उपसर्ग है-
(A) प्राग
(B) प्रा
(C) प्राक्
(D) प्रागैति

Q34. ‘दिवस का अवसान समीप था
गगन था कुछ लोहित हो चला
तरु शिखा पर थी अब राजती
कमलिनी – कुल वल्लभ की प्रभा’
उपर्युक्त पंक्तियों में कौन सा छंद है?
(A) दुर्मिल
(B) दिगपाल
(C) द्रुतविलम्बित
(D) हरिगीतिका

निर्देश: निम्नलिखित पद्यांश को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों ( प्रश्न संख्या 35 से 38 तक) के सर्वाधिक उचित उत्तर वाले विकल्प का चयन कीजिए –

पर काजहि देह को धारि फिरौ परजन्य जथारथ ह्वै दरसौ ।
निधि-नीर सुधा के समान करौ सब ही बिधि सज्जनता सरसौ।
घनआनंद जीवनदायक हौ कछू मेरियौ पीर हियें परसौ ।
कबहूँ वा बिसासी सुजान के आँगन मो अँसुवानहि लै बरसौ ।
Q35. नायिका बादल से क्या निवेदन करती है?
(A) मानवता के कल्याण के लिए बरसने का
(B) समुद्र के जल को अमृत के समान बनाने का
(C) विश्वासघाती सुजान के आँगन में अपने आँसुओं की बारिश का
(D) दूसरों के दुख को हरने के लिए शरीर धारण करने का

Q36. ‘जथारथ’ का तत्सम रूप है-
(A) यथा अर्थ
(B) यात्रा रथ
(C) सार्थक
(D) यथार्थ

Q37. उपर्युक्त पद में ‘परजन्य’ किसको कहा गया है?
(A) बादल
(B) सुजान
(C) घनआनँद
(D) समुद्र

Q38. उपर्युक्त पद के आधार पर बादल के विषय में असत्य कथन है-
(A) बादल दूसरों के कार्य के लिए देह धारण करता है।
(B) बादल समुद्र के जल को अमृत के समान कर देता है।
(C) अत्यधिक बारिश से बादल जीवन पर संकट ला देता है।
(D) सभी प्रकार से अच्छा बर्ताव करने के लिए ही बादल जगत में प्रसिद्ध है।

Q39. ‘कहुँ शृगाल कोउ मृतक अंग पर घात लगावत,
कहुँ कोउ सब पर बैठि गिद्ध चट चोट चलावत ।
जहँ तहँ मज्जा, माँस, रूचिर लखि परत बगारे,
जित-तित छिटके हाड़, सेत कहुँ, कहुँ रतनारे।’
इस पद में किस रस का प्रयोग हुआ है?
(A) वीभत्स रस
(B) अद्भुत रस
(C) भयानक रस
(D) वीर रस

Q40. ‘मानस का हंस’ उपन्यास किसके जीवन पर आधारित है?
(A) सूरदास
(B) तुलसीदास
(C) वाल्मीकि
(D) कालिदास

Q41. भाषा और बोली के बीच का कौन-सा अंतर सही नहीं है?
(A) भाषा का क्षेत्र विस्तृत परंतु बोली का क्षेत्र सीमित होता है।
(B) एक भाषा में अनेक बोलियाँ होती हैं।
(C) भाषा व्याकरण सम्मत होती है परन्तु बोली के व्याकरणिक रूप में अस्थिरता रहती है।
(D) भाषा का प्रयोग साहित्यिक एवं शैक्षिक क्षेत्र में होता है जबकि बोली का प्रयोग राजनैतिक एवं प्रशासनिक क्षेत्र में होता है।

Q42. मातृभाषा शिक्षण के कौशलात्मक उद्देश्य का हिस्सा नहीं है-
(A) वैचारिक विषयवस्तु का ज्ञान प्राप्त करना
(B) बोध सहित सुनने की योग्यता प्राप्त करना
(C) बोध सहित पढ़ने की योग्यता प्राप्त करना
(D) प्रभावी ढंग से बोलकर अपनी बात कहने की योग्यता प्राप्त करना

Q43. लेखन में दोष का मुख्य कारण है-
(A) पाठ को ध्यान से न सुनना
(B) लिपि की अनभिज्ञता
(C) व्याकरण की जानकारी का अभाव
(D) उपर्युक्त सभी

Q44. व्याकरण – शिक्षण में ‘स्थूल से सूक्ष्म’ की ओर सूत्र किस विधि में प्रयुक्त होता है?
(A) पाठ संसर्ग विधि
(B) सिद्धांत विधि
(C) आगमन विधि
(D) निगमन विधि

Q45. किस मातृभाषा शिक्षण पद्धति में स्वशिक्षा तथा प्रत्येक विद्यार्थी पर वैयक्तिक ध्यान देने पर बल दिया जाता है?
(A) डाल्टन पद्धति
(B) मांटेसरी पद्धति
(C) किंडरगार्टन पद्धति
(D) ह्यूरिस्टिक पद्धति

Q46. मौखिक भाषा शिक्षण की अप्रत्यक्ष विधियों में कौन-सी विधि नहीं आती है –
(A) अभिनय
(B) गद्य शिक्षण
(C) पद्य शिक्षण
(D) व्याकरण शिक्षण

Q47. ‘क्ष’ वर्ण का उच्चारण स्थान है-
(A) कंठ्य ओष्ठ्य
(B) कंठ्य मूर्धन्य
(C) दन्त्य मूर्धन्य
(D) दन्त्योष्ठ्य

Q48. ‘यह मकान मेरा है।’ वाक्य में ‘यह’ क्या है?
(A) निश्चयवाचक सर्वनाम
(B) निजवाचक सर्वनाम
(C) सार्वनामिक विशेषण
(D) गुणवाचक विशेषण

Q49. ‘प्रत्येक’ शब्द में कौन-सी संधि है?
(A) यण संधि
(B) अयादि संधि
(C) गुण संधि
(D) दीर्घ संधि

Q50. संज्ञा का वह रूप जिससे क्रिया का अलगाव पाया जाता है, उसे कौन सा कारक कहते हैं?
(A) करण कारक
(B) अपादान कारक
(C) अधिकरण कारक
(D) सम्प्रदान कारक

Q51. बहुब्रीहि समास का उदाहरण है-
(A) आशातीत
(B) दोपहर
(C) कनफटा
(D) नीलगाय

Q52. वर्तनी की दृष्टि से शुद्ध शब्द है-
(A) अभ्यंतरिक
(B) आभ्यंतरिक
(C) अभ्यांतरिक
(D) आभ्यांतरिक

Q53. ‘सूर्य’ का पर्यायवाची नहीं है-
(A) सविता
(B) मार्तंड
(C) अंशुमाली
(D) अर्णव

Q54. ‘निनानवे का फेर’ मुहावरे का सटीक अर्थ है-
(A) अत्यधिक लाभ कमाने की चाहत
(B) धन जोड़ने का बुरा लालच
(C) अंतिम समय में पराजित होना
(D) भारी विपत्ति आना

Q55. ‘जो प्रमाण से सिद्ध न हो’ उसके लिए एक शब्द है-
(A) अपरिमित
(B) अपरिमेय
(C) अप्रमेय
(D) अलौकिक

निर्देश : निम्नलिखित गद्यांश को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों ( प्रश्न संख्या 56 से 59 तक) के सर्वाधिक उचित उत्तर वाले विकल्प का चयन कीजिए –
यह निर्विवाद है कि यदि कुटुम्ब का संगठन आदर्श ढंग पर हो जाय तो गृहस्थाश्रम स्वाधीनता के सब अच्छे गुणों की खान बन जाय: तथा अन्य आवश्यक सद्गुणों की शिक्षा भी वहीं से प्राप्त की जा सकती है। कुटुम्बरूपी पाठशाला में बच्चों को माता-पिता की आज्ञा में रहना और माता-पिता को अपनी संतान आज्ञाकारी बनाना आदि विषयों की शिक्षा तो सदा मिलती रहती है: किन्तु इसमें कमी यही है कि स्त्री-पुरुषों को एक दूसरे के साथ समान व्यवहार की शिक्षा नहीं है। कुटुम्बरूपी पाठशाला में इस शिक्षा के होने की आवश्यकता है कि मालिक और मालकिन एक दूसरे के प्रति समान व्यवहार करें, एक दूसरे को प्रेम और सम्मान से स्मरण करें। एक के हाथ में अधिकार रहना और दूसरे का केवल आज्ञापालन करना सर्वथा उठ जाना चाहिए। दंपति में प्रत्यक्ष ऐसा संबंध होना चाहिए। यह संबंध जब गृहस्थाश्रम में स्थान पावेगा तभी बाहर के व्यवहार और संबंधों में इसकी शिक्षा का प्रचार होगा। स्त्री-पुरुषों की एक दूसरे के प्रति पूज्यबुद्धि तथा परस्पर अनुकरणीय बर्ताव होने ही के कारण बच्चे वैसे आचरण वाले बनेंगे। क्योंकि अपनी अज्ञानावस्था तक माता-पिता की देख-रेख में रहने के कारण, माता-पिता के प्रत्यक्ष आचरण को वे अनुकरण करने योग्य समझते हैं और बाद में वे स्वाभाविक रीति से वैसा ही आचरण रखते हैं। मनुष्य जाति में जो अनेक प्रकार के सुधार होने लगे हैं, इनका उद्देश्य मनुष्य को उच्च जीवन के योग्य बनाना है, और यदि यही है तो नैतिक शिक्षा के द्वारा भी इसकी उन्नति ही होनी चाहिए; किन्तु जो नैतिक नियम मनुष्य जाति की प्रारम्भिक स्थिति के लिए ही योग्य थे, उन्हीं नियमों का व्यवहार जब तक कुटुम्ब में प्रचलित रहेगा, तब तक मनुष्य जाति की नैतिक शिक्षा का सुधार सफल हो ही नहीं सकता – यह निर्विवाद सत्य है।

Q56. कुटुम्बरूपी पाठशाला की एक बड़ी कमी है-
(A) विवाहेत्तर संबंधों में बढ़ोतरी
(B) अनैतिक रिश्तों की उपस्थिति
(C) माता-पिता का एक दूसरे के प्रति समान व्यवहार का न होना
(D) बालकों द्वारा माता-पिता की बात न मानना

Q57. बच्चों को बेहतर आचरण की ओर प्रेरित करने के लिए आवश्यक है-
(A) सदा नैतिक उपदेश देते रहना
(B) माता-पिता का एक दूसरे के प्रति अनुकरणीय आचरण
(C) बच्चों को अनुशासित रखना
(D) आज्ञा-पालन की शिक्षा देना

Q58. मनुष्य जाति की नैतिक शिक्षा में सुधार तब तक नहीं हो सकता जब तक –
(A) प्रारम्भिक स्थिति में प्रचलित नियमों का परिवार में व्यवहार होता रहेगा
(B) बालकों को उचित नैतिक शिक्षा नहीं दी जाएगी
(C) मनुष्य जाति पूर्णतया स्वाधीन नहीं होगी
(D) स्त्री-पुरूष में असमानता बनी रहेगी

Q59. निम्न में से कौन-सा गुण आदर्श परिवार – व्यवस्था का नहीं है?
(A) परिवार के सभी सदस्य पिता की आज्ञा का पालन करें।
(B) स्त्री-पुरूष एक दूसरे का सम्मान करें ।
(C) परिवार के सभी सदस्य स्वाधीन हों।
(D) स्त्री-पुरुष दोनों के पास समान अधिकार हो।

Q60. निम्न में से भाववाच्य वाक्य का चयन कीजिए-
(A) संजना किताब पढ़ती है।
(B) बच्चे खेल रहे हैं।
(C) संजय से चला नहीं जाता।
(D) वह पत्र लिखता है।


Leave a Comment

error: Content is protected !!